1. Home
  2. >
  3. Hindi Songs Lyrics
  4. >
  5. Aashiq Hoon Raj Barman Song Lyrics

Aashiq Hoon Raj Barman Song Lyrics

Read Aashiq Hoon Raj Barman Song Lyrics In Hindi English On Android & ios SmartPhones. Read More Hindi Songs Lyrics For Free.

SongAashiq Hoon
SingerRaj Barman
LyricistVikki Nagar
LabelZee Music Company

Aashiq Hoon Song Lyrics

Agg Dil Mein Laga Di Hay Tu ne Magar
Main Khud Jal Jaaunga Ya Khud Ko Jala Dunga
Agg Dil Mein Laga Di Hay Tu ne Magar
Main Jala Jaunga Ya Khud Ko Jala Du ga

Tere Aakhon SE Mumkin Hai Beh Jaun Main
Ishq Mein Ashq Banke Nikal Jaaunga
Tu to Mausam Hai Tu to Mausam Hay
Tu to Mausam Hai Shayad Badal Jaye gi

Main to Aashiq Hoon Kaise Badal Jaaunga
Tere Senain Mein Har Pal Dhadkata Hoon Mai
Kaise Dil SE Main Tere Utar Jaaunga
Tu to Mausam Hay Shayad Badal Jaye ge

Main to Aashiq Hoon Kaise… Badal Jaaunga
Toot Kar Jo Zameen Par Bikhar Jaye Wo
Aasmaan Ka Main Koi Sitaara Nahi
Tujhko Haq Hai Mujhe Bhool Jaaye Magar

Main Tujhe Bhool Jaaun Gawaara Nahi
Kabhi Dariya, Kabhi Samundar Ya Toofan Hai
Ishq Mein Ishq KE Intehaan Kam Nahi
Jo Bhi Anzaam Hoga Wo Manzoor Hai

Ishaq Mein Jaan Bhe Jaye Kohe Gham Nahe
Shaakh SE Phool, Shaakh SE Phool
Shaakh SE Phool Banke Tu Jhad Jaayegi
Mai Magar Khushboo Banke Vikhar Jaaunga

Tu to Mausam Hai Shayad Badal Jaayegi
Main to Aashiq Hoon Kaise Badal Jaaunga
Tere Senain Mein Har Pal Dhadkata Hoon Main
Kaise Dil SE Main Tere Utar Jaaunga

Tu to Mausam Hai Shayad Badal Jaayegi
Main to Aashiq Hoon Kaise Badal Jaaunga

Aashiq Hoon Song Lyrics In Hindi

आग दिल में लगा दी है तूने मगर
मैं जला दूंगा या खुद ही जल जाऊंगा
आग दिल में लगा दी है तूने मगर
मैं जला दूंगा या खुद ही जल जाऊंगा

तेरे आँखों से मुमकिन है बह जाऊं मैं
इश्क़ में अश्क़ में बनके निकल जाऊंगा
तू तो मौसम है
तू तो मौसम है

तू तो मौसम है शायद बदल जायेगी
मैं तो आशिक़ हूँ कैसे बदल जाऊंगा
तेरे सीने में हर पल धड़कता हूँ मैं
कैसे दिल मैं तेरे उतर जाऊंगा

तू तो मौसम है शायद बदल जायेगी
मैं तो आशिक़ हूँ कैसे बदल जाऊंगा
टूट कर जो ज़मीन पे बिखर जाए वो
आसमान का मैं कोई सितारा नहीं

तुझको हक़ हैं मुझे भूल जाए मगर
मैं तुझे भूल जाऊं गवारा नहीं
कभी दरिया समंदर या तूफ़ान है
इश्क़ में इश्क़ के इम्तेहान कम नहीं

जो भी अंजाम होगा वो मंज़ूर हैं
इश्क़ में जान भी जाए कोई गम नहीं
शाख से फूल
शाख से फूल

शाख से फूल बनके तू झड़ जायेगी
मैं मगर खुशबू बनके बिखर जाऊंगा
तू तो मौसम हैं शायद बदल जाएगी
मैं तो आशिक़ हूँ कैसे बदल जाऊंगा

तेरे सीने में हर पल धड़कता हूँ मैं
कैसे दिल मैं तेरे उतर जाऊंगा
तू तो मौसम हैं शायद बदल जाएगी
मैं तो आशिक़ हूँ कैसे बदल जाऊंगा

Rate Lyrics
5/5
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on telegram
Telegram
Share on whatsapp
WhatsApp

Related Songs Lyrics

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *