1. Home
  2. >
  3. Islamic Lyrics
  4. >
  5. Munawwar Meri Ankhon Ko

Munawwar Meri Ankhon Ko Mere Shamsudduha Karde Lyrics

Read Download islamic Munawwar Meri Ankhon Ko Mere Shamsudduha Karde naat Lyrics Pdf File on Android & iOS Mobile phones free.

TitleMunawwar Meri Ankhon Ko Mere Shamsudduha Karde
SingerJaveria Saleem
LyricistJaveria Saleem

Read In:

English Lyrics

Munawwar Meri Ankhon Ko Mere Shamsudduha Karde
Gamon Ki Dhoop Mein Wo Sayae Zulfe Dota Karden.

Jahan Baani Aata Kar De Bhari Jannat Hiba Karde
Nabi Mukhtar E Kull Hain Jis Ko Jo Chahen Ataa Karde

Jahan Mein Unki Chalti Hai Wo Dam Mein Kiya Se Kiya Karde
Zameen Ko Asmaan Karde Surayya Ko Saara Karde

Nabi Mukhtar E Kull Hain Jis Ko Jo Chahen Ataa Karde
Fazaa Main Udnay Wale Yun Na Itraye Nida Karde

Wo Jab Chahe Jisse Chahe Use Fermaan Rawan Karde
Nabi Mukhtar E Kull Hain Jis Ko Jo Chahe Ataa Karde

Har Aik Maoj E Bala Ko Mere Maula Na Khudaa Karde
Meri Mushkil Ko Yun Asaan Mere Muskil Kushaa Karde

Nabi Mukhtar E Kull Hain Jisko Jo Chahe Ataa Karde
Ataa Ho Be Khudi Mujh Ko Khudi Meri Hawaa Karde

Mujhe Yun Apni Ulfat Main Mere Maula Fanaa Karde
Nabi Mukhtar E Kull Hain Jisko Jo Chahe Ataa Karde

Jahan Mein Aam Paigam E Shah E Ahmed Raza Karde
Palat Ker Piche Dekhen Phir Se Tajdide Wafa Karde

Nabi Mukhtar E Kull Hain Jisko Jo Chahen Ataa Karde.
Nabi Se Ho Jo Hai Begaana Use Dill Se Judaa Se Karde,

Padr,Madar, Biradar, Malo Jaa’n Unper Fida Karden.

Nabi Mukhtar E Kull Hain Jisko Jo Chahen Ataa Karde
Tabasum Se Gumaan Guzr E Shab E Tareek Per Din Ka

Ziya Ai Rukh Se Dewaron Ko Roshan Aina Karde.
Nabi Mukhtar E Kull Hain Jis Ko Jo Chahe Ataa Karde.

Kisi Ko Wo Hasate Hain Kisi Ko Wo Rolate Hain
Wo Yun He Azmat E Hain Wo Abb Tu Faisla Karde.

Nabi Mukhtar E Kull Hain Jisko Jo Chahe Ataa Karden.
Gele Taiba Main Mil Jaon Gulon Mai Mil Ke Ke Khil Jaon,

Hayat E Jaad Wani Se Mujhe Yun Aashna Karde
Nabi Mukhtar E Kull Hain Jisko Jo Chahe Ataa Karde

Ye Daor E Azmaish Hai Unhen Manzoor Hai Jab Tak
Na Chah E Tu Abhi Wo Qatm E Daor E Ibtela Kar De

Nabi Mukhtar E Kull Hain Jisko Jo Chahen Ataa Karde.
Sag E Awarai Sehera Se Ukta Si Gayi Dunya,

Bachao Abb Zamane Ka Saagan E Mustafa Karde.
Nabi Mukhtar E Kull Hain Jis Ko Jo Chahen Ataa Karde.

Mujhe Kiya Fikr Ho Akhtar Mere Yawar Hain Wo Yaawar,
Bala’on Ko Jo Meri Khud Giraftar E Bala Karde.

Nabi Mukhtar E Kull Hain Jisko Jo Chahen Ata Karden.

Hindi Lyrics

मुनव्वर मेरी आँखों को मेरे शम्सुद्दुहा करदे
गमौन की धूप में वो सया जुल्फे दोता करदेन।

जहां बानी आता कर दे भारी जन्नत हीबा करदे
नबी मुख्तार ए कुल हैं जिस को जो चाहन अता करदे

जहां में उनकी चलती है वो बांध में किया से किया करदे
ज़मीन को अस्मान करदे सुरैया को सारा करदे

नबी मुख्तार ए कुल हैं जिस को जो चाहन अता करदे
फ़ज़ा मैं उडने वाले यूं ना इतरये निदा करदे

वो जब चाहे जिसे चाहते हैं फरमान रावन करदे का इस्तेमाल करें
नबी मुख्तार ए कुल हैं जिस को जो चाहन अता करदे

हर ऐक मौज ए बाला को मेरे मौला ना खुदा करदे
मेरी मुश्किल को यूं आसन मेरे मुश्किल कुश करदे

नबी मुख्तार ए कुल हैं जिस्को जो चाहन अता करदे
आटा हो बे खुदी मुझे को खुदी मेरी हवा करदे

मुझे यूं अपनी उल्फत मैं मेरे मौला फना करदे
नबी मुख्तार ए कुल हैं जिस्को जो चाहन अता करदे

जहां में आम पैगम ए शाह ए अहमद रजा करदे
पलट केर पिचें देखें फिर से ताजदीदे वफा करदे

नबी मुख्तार ए कुल हैं जिस्को जो चाहन अता करदे।
नबी से हो जो है बेगाना उसे दिल से जुदा से करदे,
पदर, मदार, बिरदार, मालो जान उनपर फिदा करदेन।

नबी मुख्तार ए कुल हैं जिस्को जो चाहन अता करदे
तबस्सुम से गुमान गुजर ए शब ए तारिक प्रति दिन का

जिया ऐ रुख से देवरों को रोशन आईना करदे।
नबी मुख्तार ए कुल हैं जिस को जो चाहन अता करदे।

किसी को वो हसते हैं किसी को वो रोलेते हैं
वो यूं ही अजमत ए हैं वो अब तू फैसला करदे।

नबी मुख्तार ए कुल हैं जिस्को जो चाहन अता करदेन।
जिले तैयबा मैं मिल जाओ गुलों माई मिल के खिल जाऊं,

हयात ए जाद वानी से मुझे यूं आशना करदे
नबी मुख्तार ए कुल हैं जिस्को जो चाहन अता करदे

ये दोर ए आजमिश है उन्हें मंजूर है जब तक
ना चाह ए तू अभी वो क़त्म ए दाउर ए इब्तेला कर दे

नबी मुख्तार ए कुल हैं जिस्को जो चाहन अता करदे।
साग ए आवाराई सेहरा से ऊपर सी गई दुनिया,

बचाओ अब जमाने का सागन ए मुस्तफा करदे।
नबी मुख्तार ए कुल हैं जिस को जो चाहन अता करदे।

मुझे किया फ़िक्र हो अख्तर मेरे यावर हैं वो यावर,
बालाओं को जो मेरी खुद गिरफ्तार ए बाला करदे।

नबी मुख्तार ए कुल हैं जिस्को जो चाहन अता करदेन।

Download Munawwar Meri Ankhon Ko Mere Shamsudduha Karde Lyrics PDF

Rate Lyrics
5/5
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on telegram
Telegram
Share on whatsapp
WhatsApp

Related Songs Lyrics

Leave a Comment

Your email address will not be published.