1. Home
  2. >
  3. Islamic Lyrics
  4. >
  5. Subha Taiba Mein Hui

Subha Taiba Mein Hui Batta Hai Bara Noor Ka Lyrics

Read Download Subha Taiba Mein Hui Batta Hai Bara Noor Ka Islamic naat Lyrics in English Hindi in pdf file on your smartphone Android & iOS Free

TitleSubha Taiba Mein Hui Batta Hai Bara Noor Ka
LyricistOwais Raza Qadri
SingerOwais Raza Qadri

Read In:

English Lyrics


Subha Taiba Mein Hui Batta Hai Bara Noor Ka
Sadqa Leney Noor Ka Aaya Hai Taara Noor Ka

Baagh e Taiba Me Suhaana Phool Phoola Noor Ka
Mast Buu Hai Bul Bulay Padhti Hain Kalmah Noor Ka

Baarhvi K Chaand Ka Mujraa Hai Sajdah Noor Ka
Baarah Burjoo Se Jhukaa Ek Ek Sitaara Noor Ka

Unke Kasr e Kadr Sey Khuld Ik Kamraa Noor Ka
Sidra Paayi Baagh Main Nanha Sa Paudaa Noor Ka

Arsh Bhi Firdaus Bhi Us Shahe Waala Noor Ka
Yeh Musagman Burj Wo Muskuye A’ala Noor Ka

Aayi Bida’at Chayi Zulmat Rang Badlaa Noor Ka
Maahe Sunnat Mehre Tala’at Le Le Badlaa Noor Ka

Terey He Maathey Raha Ay Jan Sehra Noor ka
Bakht Jaaga Noor Ka Chamka Sitaara Noor Ka

Mein Gadaa Tu Baadshah Bhar Day Piyala Noor Ka
Noor Din Dunaa Tera Day Daal Sadqa Noor Ka

Teri He Jaanib Hai Paanchi Waqt Sajdah Noor Ka
Rukh Hain Qiblaa Noor Ka Abru Hai Qa’aba Noor Ka

Pusht Par Dhalka Sar-E-Anwar Se Shimla Noor Ka,
Dekhein Moosa Tur Se Utra Sahifah Noor Ka

Pech Karta Hai Fidaa Hone Ko Lamha Noor ka,
Gird-E Sar Phirnay Ko Banta Hai Imamah Noor Ka

Kya Bana Naam-E Khuda Asra Ka Dulha Noor Ka,
Sar Pe Sehra Noor Ka Bur Main Shahaana Noor Ka

Wasf-E Rukh Main Gaati Hain Hoorein Taraana Noor Ka,
Qudrati Binau Mein Bajta Hai Lehraa Noor Ka

Taaj Waale Dekh Kar Tera Imama Noor Ka
Sar Jhukatay Hai Ilahi Bol Baala Noor Ka

Sham’a Dil Mishkaat Tan Seena Zujaaja Noor Ka
Teri Surat Ke Liye Aaya Hain Sura Noor Ka

Tere Aage Khaaq Par Jhukta Hai Maatha Noor Ka
Noor Nay Paaya Tere Sajday Se Seema Noor Ka

Tu Hain Saaya Noor Ka Har Azwa Tukda Noor Ka
Saaye Ka Na Saaya Hota Hain Na Saaya Noor Ka

Kya Bana Naamay Khuda Asra Ka Dulha Noor Ka
Sar Pay Sehra Noor Ka Bar Me Sahana Noor Ka

Naariyon Ka Daur Tha Dil Jal Raha Tha Noor Ka
(Ay Umar)Tum ko Dekha Ho Gaya Thanda Kaleja Noor Ka

Jo Gadaa Dekho Liye Jaata Hai Toda Noor Ka
Noor Ki Sarkaar Hai Kya Is mein Toda Noor Ka

Bheek Le Sarkaar Sey La Jald Kaasa Noor Ka
Maahe Nau Taiba Me Bat’ta Hai Mahina Noor Ka

Teri Nasl-E-Paak Me Hain Bachha Bachha Noor Ka
Tu Hain Aine Noor Tera Sab Gharana Noor Ka

Noor Ki Sarkaar Se Paaya Do-shaela Noor Ka
Ho Mubarak Tumko Zunnurain Jodaa Noor Ka

Tab Mehar Hashr Se Chaun Ke Na Kushtah Noor Ka,
Bhundiya Rehmat Ki Deney Ayei Chinta Noor Ka

Tab-E Sum Se Chaundhiya Kar Chand Unhee Qadmoo Phira,
Hans Ke Bijli Ne Kaha Dekha Chalawa Noor Ka

Aankh Mil Sakti Nahi Dar Par Hai Pehra Noor Ka
Taab Hain Be-Hukm Par Maaray Parindaa Noor Ka

Chaand Jhuk Jaata Jidhar Ungli Utha De Mahd Mein
Kya Hi Chalta Tha Isharo Par Khilona Noor Ka

Ek Seene Tak Mushabeh, Ik Wahan Se Pa’oon Tak,
Husn-E Sibtayn Unke Jamaun Main Hai Nima Noor Ka

Kaaf Gesu Haa Dahan Ya Abru Aankhein Ain Swaad
Kaaf Haa Ya Ain Swaad Unka Hain Chehra Noor Ka

Ay “Raza” Ye Ahmed E Noori Ka Faize Noor Hain
Ho Gayi Meri Ghazal Badh Kar Qaseedah Noor Ka

Hindi Lyrics


सुभा तैयबा में हुई बट्टा है बड़ा नूर का
सदका लेने नूर का आया है तारा नूर का

बाघ ए तैयबा में सुहाना फूल फूला नूर का
मस्त बुउ है बुल बुलाए पढती हैं कलमा नूर का

बारहवी के चांद का मुजरा है सजदा नूर का
बाराह बुर्जू से झुका एक एक सितारा नूर का

उनके कसर ए कदर से खुद इक कामरा नूर का
सिदरा पाई बाग मैं नन्हा सा पौदा नूर का

अर्श भी फिरदौस भी उस शाही वाला नूर का
ये मुसगमन बुर्ज वो मुस्कुए आला नूर का

आई बिदात चाय ज़ुल्मत रंग बदला नूर का
माहे सुन्नत महरे तलात ले ले बदला नूर का

तेरे ही माथे रहा अय जन सेहरा नूर का
बख्त जागा नूर का चमका सितारा नूर का

में गदा तू बादशाह भर दिन पियाला नूर का
नूर दिन दुना तेरा दिन दाल सदका नूर का

तेरी ही जानिब है पांची वक्त सजदा नूर का
रुख हैं किबला नूर का अब्रू है कबा नूर का

पुश्त पर ढलका सर-ए-अनवर से शिमला नूर का,
देखें मूसा तूर से उतरा साहिबा नूर का

पेच करता है फ़िदा होने को लम्हा नूर का,
गिरद ए सर फिरने को बंता है इमामाह नूर का

क्या बना नाम-ए खुदा असर का दूल्हा नूर का,
सर पे सेहरा नूर का बुर मैं शाहाना नूर का

वासफ-ए रुख मैं गति है हुरे तराना नूर का,
क़ुदरती बिनाउ में बजता है लहर नूर का

ताज वाले देख कर तेरा इमामा नूर का
सर झुकते हैं इलाही बोल बाला नूर का
शाम दिल मिश्कात तन सीना जुजाजा नूर का
तेरी सूरत के लिए आया है सुरा नूर का

तेरे आगे खाक पर झुकता है माथा नूर का
नूर ने पाया तेरे सजदे से सीमा नूर का

तू है साया नूर का हर आज़वा टुकड़ा नूर का
साये का ना साया होता है ना साया नूर का

क्या बना नामय खुदा आसरा का दूल्हा नूर का
सर पे सेहरा नूर का बार में सहाना नूर का
नारीयों का दौर था दिल जल रहा था नूर का
(अय उमर)तुम को देखा हो गया ठंडा कालेजा नूर का

जो गदा देखो लिए जाता है तोड़ा नूर का
नूर की सरकार है क्या इस में तोड़ा नूर का
भीक ले सरकार से ला जल्द कासा नूर का
माहे नौ तैयबा में बट्टा है महिना नूर का

तेरी नसल-ए-पाक में है बच्चा बच्चा नूर का
तू है ऐन नूर तेरा सब घराना नूर का
नूर की सरकार से पाया दो-शीला नूर का
हो मुबारक तुमको जुन्नूरैन जोड़ा नूर का

तब महर हशर से चुन के ना कुश्तः नूर का,
भुंडिया रहमत की देने आई चिंता नूर का

तब-ए सम से चौंधिया कर चांद उन्ही कदमू फिरा,
हंस के बिजली ने कहा देखा चलावा नूर का

आंख मिल शक्ति नहीं दर पर है पहरा नूर का
तब हैं बे-हुकम पर मारे परिंदा नूर का

चांद झुक जाता जिधर उन्गली उठा दे महद में
क्या ही चलता था इशारा पर खिलोना नूर का

एक देखने तक मुशाबेह, एक वहन से पांव तक,
हुस्न-ए-सिब्तान उनके जमाऊं मैं है नीमा नूर का

काफ गेसु हा दहन या अब्रू आंखें ऐन स्व
काफ हा या ऐन स्वद उनका है चेहरा नूर का

अय "रज़ा" ये अहमद ए नूरी का फ़ैज़ नूर हैं
हो गई मेरी ग़ज़ल बढ़ कर क़सीदा नूर का

Download Subha Taiba Mein Hui Batta Lyrics PDF

Rate Lyrics
5/5
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on telegram
Telegram
Share on whatsapp
WhatsApp

Related Songs Lyrics

Leave a Comment

Your email address will not be published.